हमारे विषय में

मुख्य पृष्ठ - हमारे विषय में

राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान – एक परिचय

राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान की स्थापना, वर्ष 1998 में चेन्नई में, भारत सरकार के नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के द्वारा स्वायत संस्थान के रूप में की गई है। यह एक ज्ञान आधारित, उच्च गुणवत्ता युक्त और समर्पण संपन्न संस्थान है; इस संस्थान में पवन ऊर्जा विद्युत क्षेत्र से संबंधित सेवाएं प्रदान की जाती हैं; और इस क्षेत्र में आने वाली कठिनाइयों और सुधारों के लिए आवश्यक शोध अनुसंधान करते हुए पूर्ण समाधान खोजने का प्रयास किया जाता है। राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान का तमिलनाडु-कायथर में, डेनिडा-डेनमार्क की तकनीकी सहायता, प्रशिक्षण एवं आंशिक वित्तीय सहायता से, एक पवन ऊर्जा टरबाइन परीक्षण केंद्र है।

राष्ट्रीय ऊर्जा संस्थान निम्नवर्णित संगठानात्मक संरचना के साथ कार्य कर रहा है।

  • पवन - सौर ऊर्जा संसाधन मापन एवं अपतटीय ऊर्जा प्रभाग :इस प्रभाग का मुख्य केंद्र-बिंदु पवन ऊर्जा संसाधन निर्धारण है; यह प्रभाग देश के पवन ऊर्जा संसाधन का सूक्ष्म सर्वेक्षण आयोजित करते हुए पवन ऊर्जा संसाधन के समृद्ध क्षेत्रों की पहचान करता है और पवन ऊर्जा टरबाइन विकासकर्ताओं को अपनी सेवाएं प्रदान करता है। देश के लिए पवन ऊर्जा मानचित्र तैयार करने के लिए यह पवन ऊर्जा संसाधन निर्धारण और विश्लेषण कार्य करता है।
  • प्रमाणन और सूचना एवं प्रौद्योगिकी प्रभाग: इस प्रभाग का मुख्य केंद्र-बिंदु पवन ऊर्जा टरबाइन-प्रकार मानक एवं प्रमाणन और सूचना एवं प्रौद्योगिकी क्षेत्र है; यह प्रभाग ( अंतर्राष्ट्रीय मानक / अंतर्राष्ट्रीय विद्युत तकनीकी आयोग) आईएस / आईईसी 61400-22 के आधार पर पवन ऊर्जा टरबाइन-प्रकार प्रमाणन योजना के अनुसार प्रमाणन कार्य करता है; और सूचना एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रभावी प्रसार के लिए आवश्यक आधारभूत संरचनात्मक कार्य करता है।
  • मानक और विनियमन प्रभाग : इस प्रभाग का मुख्य केंद्र-बिंदु पवन ऊर्जा टरबाइन का मानकीकरण क्षेत्र है; यह प्रभाग पवन ऊर्जा क्षेत्र में मानकीकरण कार्य, पवन ऊर्जा टरबाइन के प्रोटोटाइप के ग्रिड सिंक्रोनाइज़ेशन के लिए सुविधा और पवन ऊर्जा टरबाइन के मॉडल और विनिर्माण की संशोधित सूची तैयार करता है।
  • परीक्षण और अनुसंधान स्टेशन प्रभाग: इस प्रभाग का मुख्य केंद्र-बिंदु पवन ऊर्जा टरबाइन परीक्षण है; यह प्रभाग अंतर्राष्ट्रीय मानकों और पवन ऊर्जा टरबाइन-प्रकार स्वीकृत अनंतिम योजना के अनुसार पूर्ण पवन ऊर्जा टरबाइन जेनरेटर प्रणाली के परीक्षण में विश्व स्तरीय सुविधाएं उपलब्ध करवाता है। इस प्रभाग की प्रस्तुति सेवा समर्थन, विद्युत निष्पादन मापन, सुरक्षा और कार्य-प्रचालन परीक्षण, भार मापन आदि हैं।
  • अनुसंधान एवं विकास, संसाधन आँकड़ा वैश्लेषिकी एवं पूर्वानुमान प्रभाग: इस प्रभाग का मुख्य केंद्र-बिंदु पवन ऊर्जा अनुसंधान एवं विकास, संसाधन आँकड़ा वैश्लेषिकी एवं पूर्वानुमान क्षेत्र है; यह प्रभाग अनुसंधान एवं विकास संस्थानों एवं पवन ऊर्जा उद्योग जगत के साथ सहयोगी कार्यों के द्वारा घटकों के साथ-साथ पवन ऊर्जा टरबाइनों की उप-प्रणालियों में नवीनता के प्रति मुख्य ध्यान केंद्रित करता है।
  • कौशल विकास और प्रशिक्षण प्रभाग: इस प्रभाग का मुख्य केंद्र-बिंदु पवन ऊर्जा विधा का श्रेष्ठतम सूचना केंद्र क्षेत्र है। यह प्रभाग पवन ऊर्जा विधा से संबंधित आँकड़े एकत्रित, अद्यतनित, संस्थापित और विश्लेषण करते हुए आवश्यक संबंधित सूचनाएं उपलब्ध करवाता है। प्रभाग द्वारा हितधारकों के लाभ के लिए नियमित रूप से राष्ट्रीय प्रशिक्षण और अंतर्राष्ट्रीय प्रशिक्षण कार्यशालाएं आयोजित की जाती हैं। यह प्रभाग, हिंदी और अंग्रेजी भाषा में, एक ‘पवन’ त्रैमासिक समाचार-पत्रिका प्रकाशित करता है, इस त्रैमासिक समाचार-पत्रिका में पवन ऊर्जा विधा क्षेत्र से संबंधित साधारण एवं महत्वपूर्ण विषयों की सामयिक जानकारी उपलब्ध करवाई जाती हैं।
  • नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाएं और सौर ऊर्जा विकिरण संसाधन निर्धारण प्रभाग: इस प्रभाग का मुख्य केंद्र-बिंदु नवीकरणीय ऊर्जा विधाएं और सौर ऊर्जा विकिरण संसाधन निर्धारण क्षेत्र है। यह प्रभाग नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के द्वारा सौर ऊर्जा एटलस विकसित करने की दृष्टि से मौसम के मापदंडों के साथ-साथ सौर ऊर्जा विकिरण उपलब्धता का निर्धारण और परिमाण करने के लिए देश भर में सौर ऊर्जा विकिरण संसाधन निर्धारण कार्य की वृहद परियोजनाओं संबंधी कार्य करता है।

राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान, "पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी के लिए", दक्षिण-एशिया देशों में एक शोध अनुसंधान संस्थान / संगठन है। यह एक युवा संगठन है जिसमें अत्यधिक अनुभवी मानवशक्ति कार्यरत है। इस संस्थान में पवन ऊर्जा टरबाइन प्रौद्योगिकी की प्रायः सभी विधाओं / क्षेत्रों में विशेषज्ञता है। यह अद्वितीय संयोजन इस संस्थान को इसके भावी कार्यों में खोज, व्यावहारिक स्तर निर्धारण, पवन ऊर्जा अनुप्रयोगों के क्षेत्र में उचित दिशा, तार्किक कदम उठाने में इसे और अधिक सक्षम बनाता है। पवन ऊर्जा से संबंधित विज्ञान और प्रौद्योगिकी की विधाओं के लिए अपने खुले दृष्टिकोण के साथ, आप पवन ऊर्जा संसाधन निर्धारण परियोजना कार्यान्वयन हेतु सभी आवश्यक सहायता इस संस्थान से प्राप्त कर सकते हैं। यह सुनिश्चित है कि राष्ट्रीय ऊर्जा संस्थान अपने उत्कृष्ट संरचनात्मक ढांचे और संसाधन के साथ, पवन ऊर्जा के क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता बनाए रखते हुए सबका समर्थन प्राप्त करेगा। राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान अन्य देशों को विशेषज्ञ उत्पाद और सेवाएं प्रदान करने में भी प्रोत्साहन देगा।