प्रथम राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

मुख्य पृष्ठ - विभाग - कौशल विकास और प्रशिक्षण - राष्ट्रीय प्रशिक्षण - प्रथम राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

संक्षिप्त प्रतिवेदन
पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र विकास और संबंधित विधाएं
कार्यक्रम आयोजन की अवधि : 14 अक्तूबर से 15 अक्तूबर 2004

पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र के सूचना, प्रशिक्षण और अनुकूलित सेवाएं एकक के द्वारा "पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र विकास और संबंधित विधाएं" विषय पर, भारत सरकार के गैर-परंपरागत ऊर्जा स्रोत मंत्रालय के द्वारा समर्थित, दिनांक 14 अक्तूबर से 15 अक्तूबर 2004 की अवधि में राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया। इस राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में पवन ऊर्जा विद्युत की विभिन्न विधाओं को अभिकल्पित किया गया; पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र से परियोजनाओं का कार्यांवयन और प्रचालन विषयों पर मुख्य ध्यान केंद्रित किया गया।

प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का उद्घाटन करते हुए श्री ए.एम. गोखले

इस प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का उद्घाटन गैर-परंपरागत ऊर्जा स्रोत मंत्रालय के सचिव श्री ए.एम. गोखले के द्वारा पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र कार्यालय में प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के प्रतिभागियों के सन्मुख दीप प्रज्जवलन के साथ किया गया। उपर्युक्त प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का उद्देश्य पवन ऊर्जा उद्योग, उपयोगिताओं, तकनीकी संस्थानों और विभिन्न केंद्रीय और राज्य सरकारी कार्यान्वयन एजेंसियों को मूलभूत तथा उन्नत तकनीकी और प्रचालन प्रशिक्षण और ज्ञान प्रदान करना है। इस प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के द्वारा पारस्परिक वार्तालाप, विचार-विमर्श और अनुभवों के खुले आदान-प्रदान के लिए एक अमूल्य मंच प्रदान किया गया है। इस राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में लक्षित प्रतिभागिता लगभग 30 व्यक्तियों की थी, लेकिन प्रशिक्षण में 40 से अधिक प्रतिभागियों की उपस्थिति से वास्तव में सभी अभिभूत और आनंदित हुए। भारत सरकार के गैर-परंपरागत ऊर्जा स्रोत मंत्रालय में सलाहकार श्री के. सुकुमारन के द्वारा समापन समारोह की अध्यक्षता की गई और प्रशिक्षण प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र प्रदान किए गए।

प्रशिक्षण प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए श्री के. सुकुमारन