द्वितीय राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

मुख्य पृष्ठ - विभाग - कौशल विकास और प्रशिक्षण - राष्ट्रीय प्रशिक्षण - द्वितीय राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

संक्षिप्त प्रतिवेदन
पवन ऊर्जा टरबाइन प्रौद्योगिकी के मौलिक सिद्धांत
कार्यक्रम आयोजन की अवधि : 10 मार्च से 11 मार्च 2005

पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र के सूचना, प्रशिक्षण और अनुकूलित सेवाएं एकक के द्वारा "पवन ऊर्जा टरबाइन प्रौद्योगिकी के मौलिक सिद्धांत" विषय पर, भारत सरकार के गैर-परंपरागत ऊर्जा स्रोत मंत्रालय के द्वारा समर्थित, दिनांक 10 मार्च से 11 मार्च 2005 की अवधि में राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया। इस राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में पवन ऊर्जा टरबाइन प्रौद्योगिकी के मौलिक सिद्धांत अभिकल्पित किए गए; पवन ऊर्जा संसाधन के वायुगतिकीय और पवन ऊर्जा टरबाइन और पवन ऊर्जा विद्युत जनरेटर के कार्यांवयन और प्रचालन आदि विभिन्न विषयों पर मुख्य ध्यान केंद्रित किया गया।

पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र परिसर में प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के प्रतिभागीगण

उपर्युक्त प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में निम्नलिखित विषयों पर व्याख्यान दिए गए:

  • पवन ऊर्जा टरबाइन ब्लेड सिद्धांत और विद्युत पावर विनियमन
  • पवन ऊर्जा टरबाइन में जनरेटर के प्रकार
  • पवन ऊर्जा संसाधन निर्धारण तकनीक
  • पवन ऊर्जा टरबाइन ग्रिड एकीकरण
  • जाली टॉवर और फाउंडेशन अवधारणाओं का विश्लेषण
  • पवन ऊर्जा टरबाइन डिजाइन
  • नियंत्रण और सुरक्षा प्रणाली की आवश्यकताएं
  • पवन ऊर्जा टरबाइन प्रमाणन, विद्युत वक्र मापन
  • पवन ऊर्जा टरबाइन का यांत्रिकी भार एवं संचालन और रखरखाव।
उपर्युक्त प्रशिक्षण पाठ्यक्रम से 27 प्रतिभागी लाभांवित हुए। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के सभी व्याख्यान पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र के वैज्ञानिकों / अभियंताओं के द्वारा प्रदान किए गए। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम प्रतिभागियों को पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र में 55 किलोवॉट के पवन ऊर्जा टरबाइन नेश्सेले सुविधा में व्यावहारिक ज्ञान एवं अध्ययन भ्रमण हेतु भी ले जाया गया।

पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र परिसर में नेश्सेले सुविधाओं का अध्ययन भ्रमण करते हुए प्रतिभागीगण