15वाँराष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

मुख्य पृष्ठ - विभाग - कौशल विकास और प्रशिक्षण - राष्ट्रीय प्रशिक्षण - 15वाँराष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

संक्षिप्त प्रतिवेदन
पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी
कार्यक्रम आयोजन की अवधि : 27 नवम्बर से 29 नवम्बर 2013

पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र के सूचना, प्रशिक्षण और अनुकूलित सेवाएं एकक के द्वारा "पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी" विषय पर, भारत सरकार के नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के द्वारा समर्थित, दिनांक 27 नवम्बर से 29 नवम्बर 2013 की अवधि में, राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया। इस राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में पवन ऊर्जा विद्युत संबंधित विधाएं; पवन ऊर्जा संसाधन निर्धारण और पवन ऊर्जा परियोजना कार्यांवयन और प्रचालन एवं रखरखाव संबंधी विभिन्न विषयों पर मुख्य ध्यान केंद्रित किया गया। उपर्युक्त राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम से 33 प्रतिभागी लाभांवित हुए। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में देश के 13 राज्यों के, अकादमिक संस्थान, उद्योग जगत, राज्य नोडल एजेंसियां, विकासकर्ता, परामर्शदाता आदि, प्रतिभागी उपस्थित हुए थे। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के व्याख्यान पवन ऊर्जा विषय के विशेषज्ञ वैज्ञानिकों / अभियंताओं के द्वारा दिए गए। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का उद्घाटन, चेन्नई स्थित केंद्रीय चर्म अनुसंधान संस्थान के परियोजना प्रबंधन क्लस्टर - पीएमई की अध्यक्षा, डॉ अमुदेश्वरी के द्वारा किया गया।

प्रशिक्षण पाठ्यक्रम कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए डॉ अमुदेश्वरी

उपर्युक्त प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में निम्नलिखित विषयों पर व्याख्यान दिए गए:

  • पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी - एक परिचय
  • पवन ऊर्जा टरबाइन घटक
  • पवन ऊर्जा टरबाइन अभिकल्प
  • पवन ऊर्जा टरबाइन ब्लेड की वायुगतिकी - एक परिचय
  • पवन ऊर्जा टरबाइन –प्रकार और विद्युत जेनरेटर
  • पवन ऊर्जा टरबाइन टॉवर अवधारणाएं
  • पवन ऊर्जा टरबाइन फाउंडेशन अवधारणाएं
  • पवन ऊर्जा टरबाइन –प्रकार प्रमाणन और मानक
  • पवन ऊर्जा टरबाइन परीक्षण
  • पवन ऊर्जा संसाधन निर्धारण और तकनीक
  • पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र लेआउट और अभिकल्प
  • पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र का विकास और व्यवहार्यता अध्ययन
  • पूर्व - पूंजी निवेश अध्ययन और तकनीक
  • पवन ऊर्जा टरबाइन संस्थापना और प्रचालन
  • पवन ऊर्जा टरबाइन संस्थापना के पश्चात गतिविधियाँ - ग्रिड एकीकरण
  • पवन ऊर्जा टरबाइन प्रणाली की नियंत्रण और सुरक्षा प्रणाली
  • पवन ऊर्जा विकास में पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी केंद्र की भूमिका
  • पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र की विद्युत गुणवत्ता लक्षणों का निर्धारण
  • नवीकरणीय ऊर्जा एकीकरण के लिए विद्युत प्रणाली अध्ययन
  • पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र - प्रचालन और रखरखाव
  • पवन ऊर्जा उत्पादन पूर्वानुमान
  • लघु पवन ऊर्जा टरबाइन और वर्ण संकर प्रणाली
  • NAPCC, RPO, REC & CDM का अध्ययन
  • भारत सरकार की नीतियां

प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के समापन समारोह में, कल्पक्कम स्थित इंदिरा गांधी सेंटर फॉर परमाणु अनुसंधान (आईजीसीएआर), के समूह निदेशक - रिएक्टर डिजाइन, डॉ. पी.पी. चेलापांडी, मुख्य अतिथि थे। अपने समापन समारोह के भाषण के पश्चात उन्होंने सभी प्रतिभागियों को प्रशिक्षण पाठ्यक्रम प्रमाण पत्र प्रदान किए। /p>

प्रशिक्षण पाठ्यक्रम प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए डॉ. पी.पी.चेलापांडी
डाउनलोड: ब्रोशर