अधिकारियों और कर्मचारियों की शक्तियां और कर्तव्य

मुख्य पृष्ठ - अधिकार का नियम - अधिकारियों और कर्मचारियों की शक्तियां और कर्तव्य

पद / स्थिति : महानिदेशक

उत्तरदायित्व

राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान में महानिदेशक का उत्तरदायित्व है कि वह प्रबंध परिषद के द्वारा निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करने और राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के कार्यक्रमों को सुचारु रूप से कार्यांवित करवाए। महानिदेशक के कर्तव्य और उत्तरदायित्व निम्नवत हैं।

राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के कार्य

राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के महानिदेशक, प्रबंध परिषद के नियंत्रण में, नियमों और विनियमन के अनुसार राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के प्रशासन और प्रबंधन हेतु कार्य करेंगे। आपात स्थिति में, उनके द्वारा आवश्यक कार्रवाई की जा सकती है और इसकी सूचना प्रबंध परिषद के अध्यक्ष को दी जानी चाहिए।

कर्मचारियों की दिशा और नियंत्रण

महानिदेशक के सामान्य नियंत्रण में, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के सभी अधिकारी और कर्मचारी होंगे; महानिदेशक, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के सुचारू कार्य हेतु समय-समय पर स्थायी आदेश ज़ारी कर सकते हैं।

व्यय की स्वीकृति

राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान का बजट वर्ष, जैसा कि भारत सरकार के द्वारा निर्धारित किया जाता है, प्रति वर्ष 1 अप्रैल से आरम्भ होता है और अगले वर्ष 31 मार्च को समाप्त होता है। बजट अनुदान के अंतर्गत सभी व्यय महानिदेशक के द्वारा अनुमोदित और स्वीकृत किए जाएंगे; अथवा राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के किसी अधिकारी / कर्मचारी सदस्य को उपर्युक्त शक्तियाँ उनके द्वारा, निम्नलिखित शर्तों के अंतर्गत, अनुमोदित की जा सकती हैं:

  • बजट शीर्ष के संबंध में बजट की स्वीकृति सीमा से अधिक, वेतन / भत्ता और ईपीएफ के अतिरिक्त, व्यय के लिए अध्यक्ष की पूर्व सहमति की आवश्यकता होगी।
  • राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के किसी भी अधिकारी / कर्मचारी सदस्य के लिए विदेश यात्रा पर किए जाने वाले व्यय हेतु महानिदेशक के पूर्व अनुमोदन की आवश्यकता होगी।
  • सक्षम प्राधिकारी की पूर्व सहमति के बिना बजट अनुदान के विभिन्न बजट शीर्ष के प्रावधानों के मध्य कोई पुन: विनियमन नहीं किया जाएगा।

कार्य का पर्यवेक्षण

महानिदेशक, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के कार्यक्रम (कार्यक्रमों) पर सामान्य रूप में पर्यवेक्षण करेंगे।

वार्षिक रिपोर्ट / प्रतिवेदन

महानिदेशक राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान का प्रत्येक वर्ष वार्षिक प्रतिवेदन / रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

प्राधिकार

महानिदेशक की शक्तियाँ , कार्य और कर्तव्य

महानिदेशक, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के प्रबंध परिषद की ओर से, सोसाइटी के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के कर्तव्यों का पालन करेंगे, और नियमों के अनुसार आवश्यकतानुसार, इस तरह के पर्यवेक्षण और अनुशासनात्मक नियंत्रण का प्रयोग करेंगे।

महानिदेशक का कर्तव्य होगा कि वे राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के सोसाइटी की सभी गतिविधियों पर सामान्य पर्यवेक्षण का प्रयोग करेंगे।

महानिदेशक, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान सोसायटी के मामलों के दिन-प्रतिदिन प्रबंधन के लिए उत्तरदायित्व होंगे, और वे प्रबंध परिषद के अध्यक्ष राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के समग्र निदेश, अधीक्षण और नियंत्रण के अंतर्गत विभाग प्रमुख के रूप में शक्तियों का प्रयोग करेंगे; और समय-समय पर प्रबंध परिषद द्वारा लगाए जा सकने वाले ऐसे प्रतिबंधों के अधीन स्वीकृत बजट व्यय को अनुमति देने / स्वीकृति देने के लिए उनके पास पूर्ण शक्तियां होंगी।

महानिदेशक, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के मिशन को सार्थक एवं साकार करने और नवाचार और उच्च श्रेणी के अनुसंधान एवं विकास और अन्य वैज्ञानिक एवं तकनीकी गतिविधियों के पोषण के लिए एक अनुकूल वातावरण बनाने हेतु उत्तरदायी होंगे।

महानिदेशक, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान की प्रबंध परिषद, परिषद द्वारा निर्धारित, और ऐसी अन्य समितियों या निकायों के पदेन सचिव होंगे।

महानिदेशक, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान की प्रबंध परिषद की बैठक के कार्यवृत का अभिलेख रखेंगे, और ऐसे अन्य प्राधिकारों और कर्तव्यों का पालन करेंगे, जैसा कि प्रबंध परिषद द्वारा, समय-समय पर, निर्धारित किया जाता है।

पद / स्थिति : निदेशक ( प्रशासन और वित्त )

उत्तरदायित्व और प्राधिकार

  • यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान की गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली की प्रक्रियाएं स्थापित, कार्यान्वित और अनुरक्षित की जाती हैं।
  • राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के वित्त और लेखा से संबंधित सभी विषयों को निपटाया जाएगा और खातों के रखरखाव के लिए उत्तरदायी होंगे।
  • राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के धन प्रबंधन के लिए उत्तरदायी होंगे। यह सुनिश्चित करेंगे कि अनुदान, दान, उपहार इत्यादि के माध्यम से प्राप्त सभी धन, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के बैंक खातों में जमा किए जाते हैं और वहां से राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान की ओर से भुगतान की उचित व्यवस्था की जाती है।
  • राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान का वार्षिक बजट, पूरक बजट अनुमान, बोर्ड को प्रस्तुत करने हेतु तैयार करेंगे।
  • राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के बैंकिंग परिचालन और वार्षिक खातों के रखरखाव के लिए, भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक के निदेशानुसार, उत्तरदायी होंगे।

उपर्युक्त के अतिरिक्त, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के प्रशासन से संबंधित सभी मामले महानिदेशक के सामान्य नियंत्रण और आदेश के अंतर्गत कार्य करेंगे।

निदेशक (प्रशासन और वित्त) ऐसी शक्तियों का प्रयोग करेंगे, जो समय-समय पर महानिदेशक के द्वारा प्रत्यायोजित की जाती हैं।