विशेष राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

मुख्य पृष्ठ - विभाग - सूचना, प्रशिक्षण और अनुकूलित सेवाएं - राष्ट्रीय प्रशिक्षण - विशेष राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

संक्षिप्त प्रतिवेदन
पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी लोड डिस्पैच केंद्रों के प्रणाली प्रचालकों के लिए "पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी" पर विशेष राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम
hकार्यक्रम आयोजन की अवधि : 13 जुलाई से 18 जुलाई 2015

         राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के सूचना, प्रशिक्षण और अनुकूलित सेवाएं एकक के द्वारा "पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी" विषय पर, भारत सरकार के नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के द्वारा समर्थित, दिनांक 20 मार्च से 24 मार्च 2017 की अवधि में, लोड डिस्पैच केंद्रों के प्रणाली प्रचालकों के लिए "पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी" पर विशेष राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया। इस राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में पवन ऊर्जा विद्युत संबंधित विधाएं; पवन ऊर्जा संसाधन निर्धारण और पवन ऊर्जा परियोजना कार्यांवयन और प्रचालन एवं रखरखाव संबंधी विभिन्न विषयों पर मुख्य ध्यान केंद्रित किया गया। उपर्युक्त राष्ट्रीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम से 59 प्रतिभागी लाभांवित हुए। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में 22 लोड डिस्पैच केंद्रों के प्रणाली प्रचालकों और वृहदुनगर स्थित सेतु प्रौद्योगिकी संस्थान के एक लोड डिस्पैच केंद्रों के प्रणाली प्रचालकों ने भाग लिया। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के व्याख्यान पवन ऊर्जा विषय के विशेषज्ञ वैज्ञानिकों / अभियंताओं के द्वारा दिए गए। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का उद्घाटन, तमिलनाडु विद्युत बोर्ड के मुख्य अभियंता (पी एवं सी), सुश्री जे. रेक्सलाइन टेरेसे, के द्वारा किया गया।

प्रशिक्षण पाठ्यक्रम कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए सुश्री जे. रेक्सलाइन टेरेसे

        उपर्युक्त प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के लिए, पाठ्यक्रम सामग्री, व्याख्याताओं के द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले व्याख्यानों / सार-लेखन का संकलन विशेष रूप से प्रतिभागियों के संदर्भ सामग्री एवं लाभ के लिए विशेष सामग्री के रूप में तैयार किया गया। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम सामग्री पुस्तिका का विमोचन मुख्य अतिथि के द्वारा किया गया।

पाठ्यक्रम सामग्री पुस्तिका का विमोचन करते हुए सुश्री जे. रेक्सलाइन टेरेसे

       प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के निर्धारित 19 विषयों पर राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के 13 वैज्ञानिक / अभियंताओं और पवन ऊर्जा उद्योग, अकादमिक संस्थानों, पवन ऊर्जा टरबाइन निर्माणकर्ता, पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र विकासकर्ता, परामर्शदाता, सुविधाओं, आईपीपी आदि बाह्य क्षेत्रों से 6 अनुभवी विशेषज्ञों ने व्याख्यान दिए।

उपर्युक्त प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में निम्नलिखित विषयों पर व्याख्यान दिए गए:

  • पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी - एक परिचय
  • पवन ऊर्जा संसाधन निर्धारण और तकनीक
  • पवन ऊर्जा टरबाइन घटक
  • पवन ऊर्जा टरबाइन ब्लेड की वायुगतिकी - एक परिचय
  • पवन ऊर्जा टरबाइन –प्रकार और विद्युत जेनरेटर
  • पवन ऊर्जा टरबाइन प्रणाली की नियंत्रण और सुरक्षा प्रणाली
  • पवन ऊर्जा टरबाइन टॉवर अवधारणाएं
  • पवन ऊर्जा टरबाइन फाउंडेशन अवधारणाएं
  • पवन ऊर्जा टरबाइन संस्थापना और प्रचालन
  • पवन ऊर्जा टरबाइन और ग्रिड एककीकरण
  • नवीकरणीय ऊर्जा एकीकरण के लिए विद्युत प्रणाली अध्ययन - I और II
  • पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्र - विद्युत गुणवत्ता लक्षण निर्धारण
  • पवन ऊर्जा विद्युत उत्पादन पूर्वानुमान
  • पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्रों का विकास और संबंधित विषय
  • पवन ऊर्जा विद्युत परियोजना – आर्थिक विश्लेशण
  • पवन ऊर्जा टरबाइन परीक्षण
  • अपतटीय पवन ऊर्जा
  • पवन ऊर्जा के विकास में राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान की भूमिका
  • भारत सरकार की नीतियां और WTRS / WTTS

        प्रशिक्षण प्रतिभागियों को, प्रशिक्षण सत्र के अंतर्गत व्यावहारिक अनुभव हेतु राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के कायथर स्थित पवन ऊर्जा टरबाइन परीक्षण स्टेशन और पवन ऊर्जा टरबाइन अनुसंधान स्टेशन में अध्ययन भ्रमण हेतु ले जाया गया। प्रतिभागियों के पास लघु और वृहद पवन ऊर्जा टरबाइन का पूर्व अनुभव होने के कारण उनके लिए यह भ्रमण बहुत अधिक लाभकारी सिद्ध हुआ। उपर्युक्त के अतिरिक्त प्रतिभागियों ने कायथर और कन्याकुमारी के आसपास संस्थापित पवन ऊर्जा टरबाइन क्षेत्रों का अध्ययन भ्रमण किया। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के समापन समारोह में, राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान के उप महानिदेशक और पवन ऊर्जा टरबाइन अनुसंधान स्टेशन के प्रमुख श्री मोहम्मद हुसैन, मुख्य अतिथि थे। अपने समापन समारोह के भाषण के पश्चात उन्होंने सभी प्रतिभागियों को प्रशिक्षण पाठ्यक्रम प्रमाण पत्र प्रदान किए।

प्रशिक्षण पाठ्यक्रम प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए श्री मोहम्मद हुसैन

          उपर्युक्त प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के प्रतिभागियों से प्रशिक्षण के विभिन्न पहलुओं पर प्रशिक्षण प्रतिक्रिया एकत्रित की गई, प्रतिभागियों के द्वारा प्रतिक्रिया में 61 प्रतिशत उत्कृष्ट और 39 प्रतिशत अच्छा प्रदर्शित किया गया है।

कायथर स्थित 2 मेघावॉट अनुसंधान पवन ऊर्जा टरबाइन में प्रतिभागीगण

      प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के प्रतिभागियों के द्वारा प्रशिक्षण पाठ्यक्रम की संरचना, संगठानात्मकता, बौद्धिक स्तर, आतिथ्य और आयोजन क्षमता की अत्यधिक प्रशंसा की गई।